Pages

About Sanjayacharya

Sanjayacharya, "the Author"


Sanjayacharya, born and brought up in Delhi, engineer by profession and currently lives in Gurugram. He loves to read a lot, and then started translating and writing books. He is specially interested in philosophy, religion and fiction.

His first book, a Hindi translation of Rabindranath Tagore's Gitanjali is available at Amazon.com.





संजयाचार्य, लेखक

संजयाचार्य का जन्म दिल्ली में हुआ। दिल्ली में ही पले-बड़े। अब इंजीनियर का काम करते है और गुरुग्राम में रहते है। पढ़ने का बहुत शौक है। किताबें पढ़ते-पढ़ते, लिखने और अनुवाद करने लगे। फिलोसफी, धर्म और रचनात्मक साहित्य में विशेष रुचि हैं।

संजयाचार्य कृत रबिन्द्रनाथ टैगोर की गीतांजलि का हिन्दी अनुवाद अमेजन पर उपलब्ध है।

गीतांजलि - हिन्दी अनुवाद (ई-पुस्तक)





No comments:

Post a Comment

सत्य के प्रयोग अथवा आत्मकथा

मोहनदास करमचंद गाँधी की आत्मकथा सत्य के प्रयोग अथवा आत्मकथा महात्मा गाँधी की जन्म से लेकर 1921 की आत्मकथा है। इसका 1925 से 1927 के बीच न...